WISH Foundation at the 11th Manthan Asia Pacific Award and Summit for Digital Empowerment

Access for All: Possible through Scale up of Digital Healthcare Innovations and Increased Public and the Private Partnerships for the Primary Healthcare   

Soumitro Ghosh, CEO, WISH Foundation spoke at a high level inaugural panel at the 11th Manthan Asia Pacific Award and Summit for Digital Empowerment on 4th December 2014 in New Delhi. He highlighted the issues facing the delivery of primary health care including chronic shortages of doctors and trained personnel, policy framework which does not allow engagement of providers from alternative medicines, inadequate infrastructure and non availability of last mile services and lack of support and guidance for the frontline workers. These and many more factors have led to poor health outcome and high healthcare cost for poor. 

Soumitro, CEO, WISH Foundation speaking at the 2014 International Conference on Innovations in Governance and Strategies

Soumitro, CEO, WISH Foundation speaking at the 19th Pradanya 2014 International Conference on Innovations in Governance & Strategies, Institute of Health Management & Research.

It is an international level platform for healthcare leaders and professionals to share best practices, innovations, exchange ideas and discuss strategies on how to spend least amount of resources while achieving the best outcomes.

अब वह दिन दूर नहीं जब ATM उगलेगा दवा

जल्द आप एटीएम से रुपए की तरह दवाएं भी निकाल सकेंगे.
अब दवाइयों के लिए भी हेल्थ एटीएम खोलने की तैयारी की जा रही है.
ग्रामीण क्षेत्रों में कुछ राज्य सरकारें पीपीपी मॉडल पर इस तरह के हेल्थ एटीएम स्थापित करने पर विचार कर रही हैं.

For rural India, automatic kiosk-type Health ATMs in the offing

Health ATMs, with a stock of drugs and other medical essentials, can soon become a reality in rural parts of India with some state governments mulling setting up such kiosks through the public-private partnership mode. The Wish Foundation, an NGO working in innovations in health, will soon begin a project in Rajasthan through which it will set up health ATMs in the countryside in partnership with the state government.

हेल्थ एटीएम का सपना जल्द होगा साकार

नई दिल्ली। रुपये के बाद अब दवाइयों के लिए भी हेल्थ एटीएम होगा। भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में हेल्थ एटीएम का सपना जल्द ही साकार होगा, क्योंकि कुछ राज्य सरकारें सरकारी-निजी भागीदारी के माध्यम से इस तरह के हेल्थ एटीएम स्थापित करने पर विचार कर रही हैं। स्वास्थ्य क्षेत्र में काम करने वाला गैर सरकारी संगठन विश फाउंडेशन जल्द ही राजस्थान में एक परियोजना की शुरूआत करेगा, जिसके माध्यम से देश भर में राज्य सरकारों की साझेदारी में हेल्थ एटीएम लगाया जाएगा।

Health ATMs can be a reality soon

Health ATMs, with a stock of drugs and other medical essentials, can soon become a reality in rural parts of India with some state governments mulling setting up such kiosks through the public-private partnership mode.
The Wish Foundation, an NGO working in innovations in health, will soon begin a project in Rajasthan through which it will set up health ATMs in the countryside in partnership with the state government.

गजब...पैसे ही नहीं, अब एटीएम से निकलेगी दवाईयां

नई दिल्ली। रूपये के बाद अब दवाइयों के लिए भी हेल्थ एटीएम होगा। भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में हेल्थ एटीएम का सपना जल्द ही साकार होगा, क्योंकि कुछ राज्य सरकारें सरकारी-निजी भागीदारी के माध्यम से इस तरह के हेल्थ एटीएम स्थापित करने पर विचार कर रही हैं। स्वास्थ्य क्षेत्र में काम करने वाला गैर सरकारी संगठन विश फाउंडेशन जल्द ही राजस्थान में एक परियोजना की शुरूआत करेगा, जिसके माध्यम से देश भर में राज्य सरकारों की साझेदारी में हेल्थ एटीएम लगाया जाएगा। विश फाउंडेशन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) सौमित्र घोष ने कहा, राजस्थान में परियोजना की शुरूआत जनवरी में होगी। ओडिशा तथा मध्यप्रदेश में ऎसी ही शुर

हेल्थ एटीएम का सपना जल्द होगा साकार

नई दिल्ली: रुपये के बाद अब दवाइयों के लिए भी हेल्थ एटीएम होगा. भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में हेल्थ एटीएम का सपना जल्द ही साकार होगा, क्योंकि कुछ राज्य सरकारें सरकारी-निजी भागीदारी के माध्यम से इस तरह के हेल्थ एटीएम स्थापित करने पर विचार कर रही हैं.

जल्द आ रहा है: भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में हेल्थ एटीएम

रुपये के बाद अब दवाइयों के लिए भी हेल्थ एटीएम होगा। भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में हेल्थ एटीएम का सपना जल्द ही साकार होगा, क्योंकि कुछ राज्य सरकारें सरकारी-निजी भागीदारी के माध्यम से इस तरह के हेल्थ एटीएम स्थापित करने पर विचार कर रही हैं। स्वास्थ्य क्षेत्र में काम करने वाला गैर सरकारी संगठन विश फाउंडेशन जल्द ही राजस्थान में एक परियोजना की शुरूआत करेगा, जिसके माध्यम से देश भर में राज्य सरकारों की साझेदारी में हेल्थ एटीएम लगाया जाएगा।

Health ATMs can be a reality soon

Health ATMs, with a stock of drugs and other medical essentials, can soon become a reality in rural parts of India with some state governments mulling setting up such kiosks through the public-private partnership mode.
The Wish India Foundation, an NGO working in innovations in health, will soon begin a project in Rajasthan through which it will set up health ATMs in the countryside in partnership with the state government.

Pages